ALL crime social current political sports other
आदर्श गा्रम योजना के तहत चयनित गांवों का एकीकृत विकास सुनिश्चित करना है’-जिलाधिकारी
October 23, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार । जिलाधिकारी सी0 रविशंकर ने आज कलेक्ट्रेट में आयोजित प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सम्बोधित किया। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना का मुख्य उद्देश्य 50 प्रतिशत से अधिक अनु0जाति जनसंख्या वाले चयनित गांवों का एकीकृत विकास सुनिश्चित करना है। इसके अन्तर्गत ’’आदर्श’’ ग्राम’’ एक ऐसी परिकल्पना है, जिसमें लोगों को विभिन्न बुनिवादी यथा-पेयजल एवं स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण, समाज सुरक्षा, ग्रामीण सड़कें एवं आवास, विद्युत एवं स्वच्छ ईंधन, कृषि, वित्तीय समावेश, डिजिटलीकरण जैसी सेवायें देने की परिकल्पनायें की गयी हैं, जिससे समाज के सभी वर्गों की न्यूनतम आवश्यकताओं की पूर्ति हो और असमानतायें कम से कम रहें। गांव विकास योजना का उद्देश्य चुने गांवों का आदर्श ग्राम के रूप में लगभग 5 वर्ष की समय सीमा में विकास करने के लिये व्यापक, वास्तविक और व्यावहारिक रूप रेखा तैयार करना है। बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों से प्रधानमंत्री आदर्श गांवों में आंगनबाड़ी केन्द्रों के सम्बन्ध में पूछा तो अधिकारियों ने बताया कि अभी हम प्रत्येक गांव में बच्चों की संख्या के सम्बन्ध में सत्यापन कर रहे हैं, क्योंकि गांव में जब 20 से अधिक बच्चे होंगे, तभी हम आंगनबाड़ी केन्द्र बनायेंगे। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि आदर्श गांव में सभी सुविधायें होनी चाहिये। जिलाधिकारी ने चिह्नित प्रधान मंत्री आदर्श गांवों में इण्टरनेट व मोबाइल कनेक्टीविटी के सम्बन्ध में पूछा तो अधिकारियों ने बताया कि इन गांवों में इण्टरनेट आदि की सुविधा मौजूद है। बैठक में जिलाधिकारी ने इन गांवों में विद्युत, साॅलिडवेस्ट, स्वच्छ पेयजल आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी विभाग आपस में सामंजस्य व तालमेल रखते हुये अपना-अपना सम्पूर्ण विवरण यथाशीघ्र तैयार कर प्रस्तुत करें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर,जिला विकास अधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह चैहान, उद्यान व समाज कल्याण अधिकारी नरेन्द्र यादव, परियोजना निदेशक आर.सी. तिवारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुश्री भारती तिवारी,कृषि अधिकारी डाॅ0 वी0के0 यादव सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।