ALL crime social current political sports other
आला पुलिस अधिकारियों के साथ साथ एसओजी ने किया मौके का मुआयना
October 14, 2020 • BABLI JHA • crime

दोहरे हत्याकाण्ड के मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज

हरिद्वार। पाॅशकालोनी शिवालिकनगर में हुई रिटायर्ड डीजीएम व उसकी पत्नी की हत्या के मामले में फिलहाल पुलिस के हाथ खाली है। हलांकि दोहरा कत्ल कर लूटपाट करने वाले आरोपियों की तलाश में पुलिस ने पहले ही दिन पूरी ताकत लगा दी है। मामले का त्वरित पर्दाफाश करने के लिए जिले भर की पुलिस और एसओजी हत्यारों का सुराग ढूंढने में जुटी है। मामले में सफलता पाने के लिए बुधवार को जनपद के अधिकांश थाना-कोतवाली प्रभारी और हरिद्वार और रुड़की एसओजी की टीमों ने मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर पड़ताल की। एसएसपी सहित आला अफसर दिन भर शिवालिकनगर में डेरा डाले रहे। रिटायर्ड डीजीएम के भाई की तरफ से अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या और लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।  ज्ञात रहे कि संभवतः सोमवार की रात में भेल से वर्ष 1996 में रिटायर्ड हुए प्रह्लाद अग्रवाल अपनी पत्नी बीना उर्फ गायत्री अग्रवाल की अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी। दोनो पति-पत्नी कोतवाली रानीपुर क्षेत्रान्गर्त शिवालिकनगर के जे कलस्टर में रहते थे। बताया जाता है कि उनकी एक बेटी अमेरिका के कैलिफोर्निया, दूसरी बेटी और एक बेटा दिल्ली रहते हैं। मंगलवार को छोटी बेटी रेनू ने दिल्ली से अपने माता-पिता के मोबाइल पर संपर्क किया, पर उनसे बात नहीं हो पाई। तब उसने पड़ोस में रहने वाले एक परिवार से संपर्क किया। अनहोनी की आशंका पर पुलिस बुलाने पर प्रह्राद अग्रवाल और उनकी पत्नी बीना उर्फ गायत्री अग्रवाल के शव अलग-अलग कमरों में फर्श पर पड़े थे। हत्यारों ने पूरे घर का सामान खंगाला हुआ था। घर से नगदी, जेवर और एक एलईडी गायब मिला।      प्रथम दृष्टया यह माना जा रहा है कि हत्या और लूटपाट की घटना को सोमवार की रात अंजाम दिया गया है। दोहरे हत्याकांड और लूटपाट से जहां पॉश कॉलोनी में सनसनी है, वहीं पुलिस में भी हड़कंप मचा है। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने मंगलवार देर रात दोबारा घटनास्थल पर जाकर दिल्ली से हरिद्वार पहुंचे रिटायर्ड डीजीएम के बेटा और बेटी से मुलाकात की। बुधवार सुबह एसएसपी के अलावा एसपी देहात एसके सिंह, सीओ सदर पूर्णिमा गर्ग, सीओ रुड़की चंदन सिंह बिष्ट, सीओ मंगलौर अभय प्रताप सिंह सहित कई ट्रेनी अफसर मौके पर पहुंचे। रानीपुर कोतवाली के अलावा शहर कोतवाल अमरजीत सिंह, ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी, गंगनहर कोतवाल मनोज मेनवाल, एसओ झबरेड़ा रविंद्र सिंह सहित कई थाना कोतवाली प्रभारियों और रुड़की और हरिद्वार की एसओजी टीमों ने भी शिवालिकनगर पहुंचकर पड़ताल की। आस पास के घरों में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया है। एसएसपी ने बताया कि अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं। बदमाशों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है।