ALL crime social current political sports other
अभिभावकों ने निजी स्कूल पर लगाया जबरन फीस वसूली का आरोप
August 27, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। अभिभावकों ने निजी स्कूल प्रंबधन पर जबरदस्ती फीस वसूली करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अभिभावकों पर जबरदस्ती दबाव बनाया जा रहा है। यहां गुरूवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए परेशान अभिभावकों ने कहा कि एक निजी स्कूल प्रबंधन पर जबरन फीस वसूली दबाव बना रहा है। वार्ता के दौरान मौजूद रहे दर्जनों अभिभावकों ने कहा कि स्कूल प्रबंधन द्वारा बार बार फोन कर फीस जमा कराने का दबाव बनाया जा रहा है। सचिन चोपड़ा ने कहा कि अभिभावकों की आर्थिक परेशानियों को समझने के लिए भी तैयार नहीं स्कूल प्रबंधन द्वारा फीस जमा नहीं कराने पर छात्रों को आॅनलाईन क्लास से हटाया जा रहा है। दबाव बनाने के लिए आॅनलाईन क्लास में शामिल होने के लिए छात्रों को जारी पासवर्ड को बार बार बदला जा रहा है। सचिन चोपड़ा ने कहा कि आॅनलाईन क्लास के अलावा स्कूल में अन्य सभी गतिविधियां पूरी तरह बंद हैं। लेकिन फीस पूरी वसूल की जा रही है। आर्थिक समस्या से जूझ रहे अभिभावक जब मैनेजमेंट से बात करने गए तो उनसे अभद्रता की गयी। स्कूल मैनेजमेंट के हौसले इतने बुलंद हैं कि वे देश के पीएम नरेंद्र मोदी व मीडिया तक पर अभद्र टिप्पणी कर रहे हैं। अभिभावक विकास चैहान ने कहा कि फीस का पूरा ब्यौरा भी अभिभावकों को नहीं दिया जा रहा है। टयूशन फीस के नाम पर मोटी वसूली कर अभिभावकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। खराब आर्थिक स्थिति के चलते फीस जमा नहीं करा पा रहे अभिभावकों की सूची स्कूल टीचर द्वारा व्हाटसअप पर जारी कर उन्हे अपमानित करने का प्रयास भी किया जा रहा है। स्कूल द्वारा तीस जुलाई को 789 पैरेंटस की सूची जारी कर उन्हें फीस डिफाल्टर घोषित किया गया। मेयर प्रतिनिधि संगम शर्मा ने बताया कि पूरे मामले से मुख्य शिक्षा अधिकारी को अवगत कराने पर उनके द्वारा टीम गठित कर जांच कराने का आश्वासन अभिभावकों को दिया गया था। शिक्षा विभाग ने इस मामले में अब तक क्या किया इसका भी कुछ पता नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन द्वारा शासनादेशों का खुला उल्लंघन किया जा रहा है। लेकिन अधिकारी कुछ करने को तैयार नहीं दिखते। उन्होंने कहा कि यदि समस्या का समाधान नहीं हुआ तो जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इस दौरान संदीप शर्मा, हिमांशु नामदेव, प्रवेश निम, गौरव कपूर, चिराग मिश्रा, तुषार मदान, नवप्रीत कुमार, दिनेश कोचर, रोहित भाटिया, विनय कौशिक, शैलेंद्र त्यागी, अमित चैहान आदि अभिभावक मौजूद रहे।