ALL crime social current political sports other
अधिवक्ता द्वारा आत्महत्या के मामले में पत्नी व ससुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज,पुलिस जांच में जुटी
November 3, 2020 • BABLI JHA • crime

हरिद्वार। थाना कनखल क्षेत्र में तीन दिन पूर्व अधिवक्ता सजल शर्मा के आत्महत्या करने के मामले में मृतक की माॅं की शिकायत पर पुलिस ने अधिवक्ता की पत्नी और ससुर के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार मृतक अधिवक्ता की मां ने आरोप लगाया है कि बहू और समधि ने उसके बेटे को परेशान किया। इस कारण बेटे ने आत्महत्या की है। मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। बताते चले कि कनखल थाना क्षेत्र के लाटोवाली निवासी अधिवक्ता सजल शर्मा पुत्र स्व.चन्द्र प्रकाश शर्मा 37 वर्ष ने तीन दिन पहले आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने आत्महत्या करने का कारण मानसिक परेशानी बताया था। इस मामले में मंगलवार को अधिवक्ता की मां आशा शर्मा पत्नी स्व. चंद्र प्रकाश शर्मा निवासी हजारी बाग कनखल ने पुलिस को शिकायत देकर आरोप लगाया कि उसके बेटे को आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया है। पुलिस के अनुसार आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही सजल की पत्नी दिव्या, ससुर विनय कुमार कौशिक उसको परेशान करते थे। वर्ष 2019 में दिव्या ने अधिवक्ता सजल और सास आशा शर्मा के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कराया था। इससे पहले ही मां आशा अपने बेटे सजल शर्मा से अलग रहने लगी थी। पुलिस के अनुसार आशा शर्मा कनखल के हजारी बाग में कमरा लेकर रह रही थीं। आरोप है कि मुकदमा दर्ज कराने के बाद बहू ने मकान अपने नाम कराने के शर्त रखी थी। जिसके बाद इसी साल 30 जनवरी को मकान बहु के नाम कराने के बाद दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया था। आरोप है कि मकान नाम कराने के बाद भी बहू ने सजल को परेशान करना नहीं छोड़ा। जिस कारण परेशान होकर सजल ने आत्महत्या कर ली। बता दें कि 18 फरवरी वर्ष 2011 को सजल शर्मा का विवाह विकास नगर लाइन मुरादाबाद निवासी दिव्या के साथ हुआ था। इंस्पेक्टर शंकर सिंह बिष्ट ने बताया कि दिव्या और विनय कुमार के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।