ALL crime social current political sports other
अयोध्या में भगवान रामचंद्र के मंदिर का शिलान्यास सुखद क्षण है- प्रेम चन्द्र अग्रवाल
August 5, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। राममंदिर भूमि पूजन को लेकर बाबा अमीर गिरी घाट पर श्रीमहंत विनोद गिरी महाराज के संयोजन में आयोजित संत समागम के अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास का अवसर लंबे संघर्षों के बाद आया है। उन्होंने संत समाज के साथ इस अवसर पर मां गंगा का दुग्ध अभिषेक भी किया। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि यह ऐतिहासिक घटना नव भारत के निर्माण में एक महत्वपूर्ण कदम है। अयोध्या में भगवान रामचंद्र के मंदिर का शिलान्यास सुखद क्षण है। संपूर्ण भारतवर्ष के कारसेवकों ने मंदिर निर्माण का संकल्प लिया था। जो आज पूरा हुआ है। जूना अखाड़े के अंतर्राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्रीमहंत विनोद गिरी महाराज ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए संपूर्ण देश के साथ-साथ उत्तराखंड के कोने-कोने से लोगों ने कारसेवा के रूप में प्रतिभाग कर आंदोलन को गति दी थी। परिणाम स्वरूप सर्वोच्च न्यायालय के निर्माण के बाद ऐतिहासिक राम मंदिर का शिलान्यास हो रहा है। उन्होंने कहा कि समस्त भारत का संत समाज हर्षोल्लास से सराबोर है और ऐतिहासिक क्षण के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करता है। महामंडलेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद महाराज ने कहा कि राम मंदिर का शिलान्यास हो चुका है। अब रामराज्य स्थापित होना चाहिए। इस अवसर पर महंत स्वामी ललितानंद गिरी, महंत साधनानंद, महंत महत कमल दास,  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक शरद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संपर्क प्रमुख अमित, अनिल मिश्रा, शिव दास महाराज,  पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य मनोज जखमोला, मनोज शर्मा, सुरेंद्र दयाल, धर्मेंद्र, वंश, मुकेश गौनियाल, शिवानी, रेखा रयाल, विनय थापा, मधुर शर्मा आदि सहित बड़ी संख्या में साधु संत उपस्थित रहे।

यह केवल ऐतिहासिक नहीं बल्कि एक भावनात्मक क्षण है 
हरिद्वार। रामधाम गंगेश्वर धाम में संत महापुरूषों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर व आतिशबाजी कर राममंदिर भूमि पूजन होने पर खुशी मनाई। इस दौरान सभी ने जय श्रीराम के उद्घोष के साथ भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का संकल्प लिया। इस दौरान श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम पूरे विश्व के आदर्श एवं पूज्यनीय हैं। भारत की करीब 25 पीढ़ियां आई। जिन्होंन राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर देश के संघर्ष को देखा है। अब जाकर वह पुण्य समय आया है। जब राम मंदिर का सपना साकार होने जा रहा है। रामधाम गंगेश्वर धाम के परमाध्यक्ष स्वामी आनन्द भास्कर महाराज ने कहा कि यह केवल ऐतिहासिक नहीं बल्कि एक भावनात्मक क्षण है। क्योंकि 500 वर्षो के लंबे इंतजार के बाद प्रभु श्रीराम मंदिर का निर्माण शुरू हो रहा है। यह क्षण एक नए भारत की नींव होगा। स्वामी वेदानन्द व स्वामी दिव्यानन्द महाराज ने कहा कि भारतीय इतिहास का यह दिन स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा। म.म.स्वामी कपिल मुनि महाराज ने कहा कि जन जन के आराध्य प्रभु श्रीराम संपूर्ण विश्व के वंदनीय हैं। यह क्षण अयोध्यावासियों के लिए ही नहीं संपूर्ण देश के लिए गौरवशाली है। सभी को मंदिर निर्माण में बढ़चढ़ कर अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए। जिससे मंदिर का निर्माण आलौकिक व भव्य हो सके। इस अवसर पर महंत प्रेमदास, महंत जयेंद्रमुनि, महंत निर्मलदास, महंत कमलदास, स्वामी रविदेव शास्त्री, स्वामी हरिहरानंद, स्वामी दिनेशदास, म.म.सुरेंद्रमुनि, महंत सुतीक्ष्ण मुनि, स्वामी शिवानन्द, महंत निरंजन दास, मंहत श्यामदास आदि उपस्थित रहे।