ALL crime social current political sports other
हाथरस काण्ड के दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
September 30, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए सामूहिक दुष्कर्म व हत्या की घटना के विरोध में मायापुर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में कार्यकर्ताओं ने ललतारो पुल स्थित बाल्मीकि चैक पर प्रदर्शन कर मृतका व उसके परिवार को न्याय देने तथा दोषियों को फांसी देने की मांग की। मायापुर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रवि कश्यप के नेतृत्व में किए गए प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल हुई। इस दौरान महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष विमला पांडे ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा के राज में हाथरस में एक बेटी के साथ जिस तरह का घृणित अपराध हुआ है। उससे पूरी मानवता शर्मसार है। एक बेटी पर हुए अत्याचारों पर ना तो पीएम मोदी कुछ बोल रहे हैं ना मुख्यमंत्री योगी ने अभी तक कोई कड़े कदम उठाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं है। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के राज में रोजाना बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। लेकिन मुख्यमंत्री सुशासन का दावा कर रहे हैं। ब्लॉक अध्यक्ष रवि कश्यप एवं गार्गी राय ने कहा कि मन की बात करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज तक महिलाओं के मन की नहीं की। उनका दर्द जानने का प्रयास नहीं किया। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा बेटियों का महिलाओं का शोषण करने वालों को संरक्षण भी देते हैं। हाथरस की बेटी के साथ जो दिल दहलाने वाला अपराध हुआ है। उसके दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दी जाए। महानगर सचिव नीलम शर्मा, ब्लॉक महासचिव विशाल निषाद ने कहा कि यदि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यदि महिलाओं को और बेटियों को सुरक्षा नहीं दे सकते तो उनको सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। मेयर प्रतिनिधि विक्की कोरी व वार्ड अध्यक्ष आशु चंचल ने कहा कि भाजपा राज में देश में बेटीयां सुरक्षित नही है। प्रदर्शन करने वालों में वार्ड अध्यक्ष जगदीप असवाल, दीपक कश्यप, पंकज नोटियाल, मेयर प्रतिनिधि विजय ठाकुर, आशीष भारद्वाज, रवि बाबु शर्मा,सनी मल्होत्रा, करन सिंह राणा, अरविंद चैहान, रवि कोरी, राजन, सन्नो, अजय कोरी, विक्की कोरी, मुन्ना मास्टर, रूबी राय, सीता, मीरा सक्सेना, संजना राय आदि सहित दर्जनों कार्यकर्ता शामिल रहे।