ALL crime social current political sports other
हाथरस काण्ड के विरोध में निगमकर्मी रहे हड़ताल पर,दोषियों को फांसी की मांग
October 3, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। हाथरस काण्ड के विरोध में नगर निगम के कर्मचारी शनिवार को हड़ताल पर रहे। नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के संयोजन में निगम कर्मचारियों व वाल्मिीकि समाज के लोगों ने यूपी के हाथरस में दरिंदगी का शिकार हुई बेटी को श्रद्धासुमन अर्पित कर मृतका व उसके परिवार को न्याय दिलाने तथा दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग को लेकर के लिए सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय तक जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन भी भेजा गया। इस दौरान संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारी राजेंद्र श्रमिक, सुनील राजौर व राजेंद्र चुटेला ने कहा कि यूपी में दलितों पर अत्याचार बढ़ रहे हैं। हाथरस में वाल्मिीकि समाज की युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गयी। युवती की मौत के बाद उसके परिवार को अंतिम संस्कार तक नहीं करने दिया गया। हिंदू रीति रिवाजों के विपरीत पुलिस ने आधी रात में मृतका का अंतिम संस्कार कर दिया। जिसे लेकर पूरे देश के वाल्मिीकि समाज सहित पूरे दलित समाज में रोष है। अरविन्द चंचल व पार्षद विनीत जौली ने कहा कि मृतका के परिवार को एक करोड़ रूपए मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, मकान तथा परिवार की सुरक्षा के लिए पर्याप्त इंतजाम किए जाएं। साथ ही फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकद्मा चलाकर दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। आत्माराम बेनीवाल व नरेश चनियाना ने कहा कि निष्पक्ष जांच करने बजाए अपराधियों को बचाने में लगे सभी अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। प्रदर्शन करने वालों में राजेंद्र घाघट, अजय कुमार, विकास, राकेश, मोतीराम, मनमोहन द्रविड़, प्रवीण तेशवर, राजेश छाछर, आनंद कांगड़ा, सलेक चंद, अशोक हवलदार, लक्ष्मीचंद, जितेंद्र तेश्वर, गगन कांगड़ा, अभिनव चंचल, नीरज बागड़ी, अशोक मामा, शिवकुमार, संजय पेवल, नानक चंद, सुभाष खैरवाल, राजेश खन्ना, प्रमोद, अनुराग, सुनील बेदी, किशोर, जुगनू कांगड़ा, आशीष राजौर, जीत सिंह, नानक चंद, मुकेश चंचल, राजेश खैरवाल, सतीश कुमार, संजीव बाबा, दीपक चावरिया, काका हवलदार, विकास, कुसुम पाल, बलराम चुटेला, गोवर्धन, राजेश खैरवाल, सोनी, घनश्याम, सीताराम, सुदर्शन, राजा सहित भारी संख्या में लोग शामिल रहे।