ALL crime social current political sports other
जलभराव की समस्या को दूर करने के लिए बने नाले को लेकर उठने लगे सवाल
July 5, 2020 • BABLI JHA • political

हरिद्वार। मेयर पति और मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा ने प्रेमनगर पुल के पास बरसाती जल की निकासी के लिए बनाए गए नाले का रविवार को निरीक्षण किया। गंगनहर का जलस्तर बढ़ने के बाद नाले में उल्टा पानी भर रहा था। मेयर प्रतिनिधि ने कहा कि अगर नाले के निर्माण में करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी भगत सिंह चैक पर जलभराव हुआ तो मेयर और वे पानी पर ही धरने पर बैठेंगे। अमृत योजना के तहत प्रेमनगर पुल के पास नाले का निर्माण किया गया है। रविवार को गंगनहर का जलस्तर बढ़ने के साथ नाले में पानी बैक मारने लगा। मेयर अनिता शर्मा को जब इसकी सूचना मिली तो उन्होंने अपने प्रतिनिधि अशोक शर्मा को मौके पर भेजा। मौके पर मौजूद अमृत योजना के अधिशासी अभियंता संजय सिंह को अशोक शर्मा ने कहा मौजूदा स्थिति को देखते हुए तो जलभराव को रोकने की योजना सफल होती नहीं दिख रही है। उन्होंने कहा कि अगर भगत चैक से सीधा नाला बनाकर बनाया जाता तो जलभराव की समस्या पूरी तरह से हल हो जाती। भारी बारिश के दौरान प्रेमनगर पुल के पास ही पंप लगाकर जल निकासी हो जाती। इससे भगत सिंह चैक पर पानी नहीं भरता। पार्षद अनुज सिंह और सुहेल अख्तर ने नाले के डिजाइन पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भगत सिंह चैक और आसपास के इलाकों में जलभराव की समस्या थी लेकिन नाले को सीधे लाने के बजाय घुमाकर लाने की आवश्यकता क्या थी। इस दौरान सुनील सिंह, अमित राजपूत, सुमित भाटिया, नावेज अंसारी, विवेक भूषण, जेपी सिंह, वसीम सलमानी, प्रेम शर्मा, जगदीप असवाल, अमन, शावेज, नकुल माहेश्वरी मौजूद रहे।