ALL crime social current political sports other
कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण हेतु जिला स्तरीय माॅनिटरिंग कमेटी गठित
September 26, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। उपजिलाधिकारी शैलेन्द्र सिंह नेगी नामित प्रतिनिधि जिला मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सभागार में डिस्ट्रिक्ट माॅनिटरिंग कमेटी की पहली बैठक आयोजित की गयी। उल्लेखनीय है कि उच्च न्यायालय, उत्तराखण्ड, नैनीताल की जनहित याचिका संख्या-58..2020 अन्य जनहित याचिका संख्या-50...ध्2020 में पारित आदेश के अनुपालन में कोविड-19 कोरोना वाइरस के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के दृष्टिगत जिला स्तरीय माॅनिटरिंग कमेटी गठित की गयी है, कमेटी में शैलेन्द्र सिंह नेगी, सुश्री शिवानी पसबोला, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,नमित शर्मा, अध्यक्ष डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन, हरिद्वार के रूप में संयुक्त कमेटी गठित की गयी है। शैलेन्द्र सिंह नेगी ने कमेटी द्वारा जो कार्यवाही सुनिश्चित की जानी है उसके बारे में विस्तृत जानकारी देते हुये कहा कि कमेटी जनपद के चिकित्सालयों, स्वास्थ्य केन्द्रों व अन्य चिकित्सा, क्वारनटाइन सेण्टर आदि का निरीक्षण कर उसमें सुविधाओं को विकसित किये जाने व अन्य पहलुओं पर अपने सुझाव देगी। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की समस्त कार्यवाही केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा प्रचलित गाईड लाइन एवं निर्देशों का पालन करते हुये की जायेगी। उन्होंने बताया कि विद्वान अधिवक्तागण अपने सुझाव कमेटी को प्रस्तुत कर सकते हैंे। बैठक में अरूण वोरा, प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने जन-जागरूकता पर विशेष जोर देते हुये कहा कि कोविड-19 के लिये पूर्व बरते जाने वाले एहतिहात जैसे-बाॅर्डर पर चेकिंग, रूटिन थर्मल स्क्रीनिंग, मास्क, सेनेटाइजेशन, सोशल डिस्टिेंसिंग, आदि पर विशेष जोर दिया जाये। इसके लिये नगर निगमध्नगर पालिकायें या अन्य संस्थायें नियमित रूप से सभी इलाकों में एलाउन्समेंट करायें और लोगों को जागरूक करें, जिसमें पुलिस की भी बहुत बड़ी भूमिका है, जिससे कोविड-19 के फैलाव को काफी कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पुलिस के माध्यम से एक सघन अभियान चलाया जाये, जिसमें खासतौर पर दुकानों, होटलों, सब्जी विके्रताओें की दुकानों, भीड़भाड़ वालें स्थानों, बसों, बस अड्डों, रेलवे स्टेशन, घाटों, गंगा की आरती के समय आदि में रूटिन छापामारी अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा कि मण्डी के निरीक्षण की जिम्मेदारी मण्डी सचिव की होगी। शैलेन्द्र सिंह नेगी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे बैठक में प्राप्त हुये सुझावों, डब्ल्यूएचओ एवं आईसीएमएआर की गाइड तथा एसओपी का कड़ाई से पालन करायें। इसके लिये उन्होंने अधिकारियों को एक संयुक्त चेकिंग के भी निर्देश दिये। बैठक में अरूण वोरा, नमित शर्मा, प्रेसीडेंट, डीबीए, डाॅ0 आनन्द भारद्वाज, मुख्य शिक्षा अधिकारी, अरविन्द सैनी, एएलसी लैब, डाॅ0 ए0के0 श्रीवास्तव, एसएमओ, मनीष तिवारी, एआरटीओ, डाॅ0 विकास ठाकुर, डीएचएनओ आदि अधिकारी उपस्थित थे।