ALL crime social current political sports other
कुंभ मेले को भी सावन की भांति कराने पर व्यापारी सड़कों पर उतरकर करेंगे आंदोलन
August 13, 2020 • BABLI JHA • other

हरिद्वार। व्यापारियों ने अपर रोड़ पर प्रदर्शन कर कुंभ मेला निर्धारित समय पर कराने की मांग की है। श्री गुरु गोरक्षनाथ व्यापार मंडल के पूर्व अध्यक्ष संजय त्रिवाल ने कहा कि महाकुंभ मेले में सनातन परंपराओं का अद्भूत संगम महाकुंभ देखने को मिलता हैं। महाकुंभ मेले के दौरान देश दुनिया से संत महापुरुषों के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्त हरिद्वार आते है। महाकुंभ जैसा विशाल मेला लगने पर व्यापारियों को भी लाभ होता है। उन्होंने कहा कि यदि कुंभ मेला निर्धारित समय पर संपन्न नहीं होता है तो पहले से ही कठिनाईयों का सामना कर रहे व्यापारियों के लिए हालात और खराब हो जाएंगे। जिला उपाध्यक्ष डा.नीरज सिंघल ने कहा कि पौराणिक सिद्ध पीठों व मठ मंदिरों के सौन्दर्यीकरण के काम को तेजी के साथ संपन्न कराए जाएं। जिससे महाकुंभ मेला निर्धारित समय पर संपन्न हो सके। कोरोना संकट के चलते हरिद्वार के व्यापारी भूखमरी की कगार पर हैं। व्यापारियों को उम्मीद थी कि कांवड़ मेला होने से व्यापार गति पकड़ेगा। लेकिन कांवड़ मेला नहीं होने से व्यापार पर बहुत बुरा असर पड़ा है। यदि कुंभ मेला भी निर्धारित समय पर नहीं कराया गया तो व्यापारियों की स्थिति और खराब हो जाएगी। गोरक्षनाथ व्यापार मण्डल के महामंत्री विशाल गोस्वामी ने कहा कि सामाजिक संगठन, व्यापारी, संत महापुरुष महाकुंभ मेले को सकुशल संपन्न कराने में अपना योगदान देते चले आ रहे हैं। मेला प्रशासन को भी धर्मनगरी के लोगों की भावनाओं के अनुरूप कुंभ मेले की व्यवस्थाओं को तेजी के साथ लागू कराना चाहिए। मूलभूत सुविधाएं बाहर से आने वाले श्रद्धालु भक्तों को मिले। मेला प्रशासन व आम जनमानस अवश्य ही मेले को सकुशल कराने में अपना योगदान देगा, उन्होंने कहा कि आने वाले कुंभ मेले को भी प्रशासन सावन की भांति न कराने के प्रयास में लगा है। अगर यही हाल रहा तो मजबूर व्यापारी साथी सड़कों पर उतरकर बड़ा आंदोलन करेंगे। व्यापारी वर्ग प्रदेश सरकार को आने वाले समय पर उचित जवाब देगा। मांग करने वालो में सागर सक्सेना, राहुल शर्मा, गगन गुगनानी, अजय रावल, सुनील कुमार, सुरेश कुमार, महेन्द्र कुमार, नितिश कुमार, अमन कुमार, प्रिंस रावत, सूरज कुमार, रींकू सक्सेना, ऋषभ गोयल, अतुल चैहान, मन्नू, मनीष चैहान, विनोद, राजेश अग्रवाल, दिनेश साहू, गोपाल गोस्वामी, सुनील त्यागी आदि व्यापारी शामिल रहे।