ALL crime social current political sports other
मन्दिर निर्माण प्रारम्भ होने की खुशी में धर्मनगरी खुशी में सराबोर,हर तरफ गूंजे जयश्री राम के नारे
August 5, 2020 • BABLI JHA • current

हरिद्वार। रामलला मन्दिर निर्माण प्रारम्भ होने की खुशी में धर्मनगरी राममय रहा,जयश्री राम के नारों में सराबोर लोगों ने एक दूसरे को बधाई देकर अभिवादन किया। अयोध्या में रामलला मन्दिर के निर्माण की आधारशिला रखे जाने के उपलक्ष्य में तीर्थनगरी में उत्सव का मौहाल रहा। हर तरफ जयश्री राम के नारे गूंजते रहे,एक दूसरे का अभिवादन जय श्रीराम कहकर किया गया। सायंकाल गंगाघाटों के अलावा लोगों ने अपने अपने घरों में दीये जलाकर खुशी का इजहार किया।  गंगानगरी में लोगों द्वारा जगह जगह लडड्ओं का वितरण,दीप प्रज्जवलन सहित विशेष पूजा आदि का कार्यक्रम आयोजित किया गया। पवित्र हर की पैड़ी पर गंगा घाटों पर द्वीप प्रज्जवलित किया गया। जबकि कई स्थानों पर सामूहिक रूप से मिष्ठान वितरण के साथ साथ दीप जलाकर मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम की पूजा अर्चना की गयी। नगर के हर मन्दिर,धार्मिक संस्थाओ के अलावा सामजिक संस्थाओं ने भी विशेष कार्यक्रम आयोजित कर लडडूओं का वितरण किया।

असत्य पर सत्य की विजय पर सद्भावना के दीप जले।
हरिद्वार। विश्व प्रसिद्व तीर्थनगरी हरिद्वार में श्री प्रेमनगर आश्रम, मानव उत्थान सेवा समिति के प्रेरक आध्यात्मिक संत सतपाल महाराज के दिशा-निर्देश में आज 5 अगस्त श्री राम जन्म भूमि  अयोध्या में मन्दिर निर्माण का कार्य प्रारम्भ तथा पूजन किये जाने वाले ऐतिहासिक क्षण के अवसर पर श्री प्रेमनगर आश्रम तथा पूरे भारत वर्ष के कोने-कोने मंे समिति के हजारों आश्रम तथा लाखों कार्यकर्ताओं एवं श्रद्वालु-भक्तगणों द्वारा दीप जलाकर भगवान श्री राम जी के श्री चरणों में नमन किया। दीप जलाने का मतलब होता है कि अपने जीवन से अंध्कार हटाकर प्रकाश पफैलाना। प्रकाश प्रतीक होता है ज्ञान का। जिस प्रकार श्री राम ने एक सन्यासी की भांति ज्ञान और कर्म का समन्वय कर समाज को उपदेश दिया। इसी प्रकार आध्यात्मिक संत श्री सतपाल जी महाराज पूरे भारतवर्ष में आध्यात्मिक ज्ञान के माध्यम से जनमानस को सद्भावना का पाठ पढ़ा रहे हैं। सद्भावना से ही हम पूरे देश को एकजुट कर सकते हैं। जैसे प्रभु श्री राम जी ने आसुरी शक्ति का विनाशकर दैवी शक्ति व ऋषि मुनियों की रक्षा कर समाज में सम्मानता का संदेश दिया। इस तरह समाज मे दुर्भावना रूपी अंधकार पर सद्भावना का प्रकाश फैलाकर अंध्कार को समाप्त कर सकते हैं। इस प्रकार जनमानस को एकजुट कर राष्ट्र को विश्वगुरफ बना सकता है। इस संदेश को जागृत करने के लिए समिति ने समाज को प्रेरणा दी।  इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हरिद्वार प्रभारी सम्मानीय श्री शरद जी, विश्व हिन्दु परिषद् जिला अध्यक्ष नितीन गौतम, मनोज वर्मा, अनुज वालिया  आश्रम के महामंत्री रमणीक भाई प्रबंधक  पवन कुमार तथा डा. महेन्द्र कुमार आदि सम्मानीय लोगों ने भाग लिया।