ALL crime social current political sports other
संत महात्माओं के लिए पांच अगस्त का दिन स्वर्णिम व बड़ा दिन-श्रीमहंत नरेन्द्र गिरी
August 6, 2020 • BABLI JHA • other

हरिद्वार। अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पर राम मंदिर के शिलान्यास को लेकर एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर साधु संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने पलटवार किया है। अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेन्द्र गिरी महाराज ने कहा है कि ओवैसी को यह समझना चाहिए कि पाकिस्तान मुस्लिम बहुसंख्यक होने के नाते अगर मुस्लिम राष्ट्र हो सकता है, तो भारत हिन्दू बहुसंख्यक होने के बाद भी हिन्दू राष्ट्र क्यों नहीं हो सकता है। श्रीमहंत नरेन्द्र गिरी महाराज ने कहा है कि वास्तव में भारत हिन्दू राष्ट्र ही है, लेकिन यहां पर सभी धर्मों का पूरा सम्मान है। उन्होंने कहा है कि दूसरे धर्मों को मानने वालों का भी हम सनातनी सम्मान करते हैं, उन्हें गले लगाते हैं और उनके प्रति आस्था भी रखते हैं। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने कहा है कि लेकिन जब कोई हमारे धर्म को ललकारता है और अपशब्द बोलता है तो हम उसका डटकर सामना करने को भी हमेशा तैयार रहते हैं। उन्होंने कहा है कि राम मंदिर का निर्माण संविधान के दायरे में रहकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर ही हो रहा है। पीएम मोदी ने कोर्ट का फैसला आने और राम मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट के बुलावे पर ही अयोध्या जाकर राम मंदिर का भूमि पूजन और शिलान्यास किया है। उन्होंने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए हिन्दुओं ने सैकड़ों वर्षों तक इंतजार किया और अदालत के फैसले की भी प्रतीक्षा की है। श्रीमहंत नरेन्द्र गिरी महाराज ने कहा है कि संत महात्माओं के लिए पांच अगस्त का दिन स्वर्णिम व बड़ा दिन है। जिस तरह से देश में 15 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस और 26 जनवरी को गणतन्त्र दिवस का पर्व मनाया जाता है। उसी तरह से साधु संत अब हर साल पांच अगस्त को भगवान श्रीराम के गौरव दिवस के रुप में मनायेंगे। ।