ALL crime social current political sports other
शिक्षण संस्था के विकास में धन की कमी नहीं आने दी जाएगी- डॉक्टर देशबंधु
November 20, 2020 • BABLI JHA • social

हरिद्वार ।  मिथिलेश सनातन धर्म इंटर कॉलेज कनखल का श्री सनातन धर्म प्रतिनिधि सभा पंजाब नई दिल्ली के कार्यकारी अध्यक्ष इंद्र मोहन गोस्वामी राष्ट्रीय महामंत्री डॉक्टर देशबंधु तथा प्रचार मंत्री नंदकिशोर शर्मा ने भ्रमण किया । प्रबंध समिति के पदाधिकारियों और सदस्यों तथा विद्यालय के स्टाफ के साथ आवश्यक बैठक की और इस संयुक्त बैठक में कॉलेज के विकास के लिए कई प्रस्ताव पारित किए हुए और कॉलेज के परिसर में कई लोगों द्वारा अवैध कब्जे को हटाने का फैसला किया गया। इस संबंध में प्रशासन को सूचित कर उचित कार्रवाई की रूपरेखा बनाई गई।         बैठक को संबोधित करते हुए सभा के कार्यवाहक अध्यक्ष इंद्र मोहन गोस्वामी ने कहा कि कॉलेज के विकास के लिए सभा पूरा सहयोग प्रदान करेगी। राष्ट्रीय महामंत्री डॉक्टर देशबंधु ने कहा कि किसी भी संस्था को चलाने के लिए दानदाताओं की कोई कमी नहीं है और शिक्षण संस्थाओं के विकास के लिए कई लोग बढ़-चढ़कर योगदान करते हैं कॉलेज के विकास में धन की कमी धन की कमी नहीं आने दी जाएगी। सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और कॉलेज की प्रबंध समिति के अध्यक्ष सुधीर कुमार गुप्ता ने कॉलेज के विकास के लिए कई योजनाएं प्रस्तुत की और जिनको जल्दी ही अमलीजामा बनाने की बात कही। कॉलेज के प्रबंधक सतपाल ब्रह्मचारी ने कहा कि कॉलेज के विकास के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे एसडी कॉलेज का इतिहास स्वर्णिम रहा है और यह गरीब छात्रों को शिक्षा प्रदान कर रहा है बैठक की अध्यक्षता इंद्रमोहन गोस्वामी ने की।  अतिथियों का आभार जताते हुए कॉलेज की प्रधानाचार्य श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने कहा कि कॉलेज में उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान की जा रही है । उन्होंने सभा और प्रबंध समिति के सभी पदाधिकारियों का कॉलेज के विकास में योगदान देने के लिए आभार जताया। बैठक में श्री सनातन धर्म प्रतिनिधि सभा पंजाब नई दिल्ली के केंद्रीय कार्यालय के प्रबंधक अरुण शर्मा और सप्त ऋषि आश्रम हरिद्वार के प्रबंधक विनोद सैनी उपस्थित थे। इस अवसर पर कॉलेज की प्रबंध समिति के वरिष्ठ सदस्य सुनील दत्त पांडेय, मनोज खन्ना, शिक्षक गंगाधर शर्मा राजीव पंत गगन वीर अनिल शर्मा शिक्षकेतर कर्मचारी गंभीर सचिन आदि ने अतिथियों का स्वागत किया इस अवसर पर अतिथियों को स्मृति चिन्हऔर शॉल भेंट कर उनका सम्मान किया गया