ALL crime social current political sports other
उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने किया शिक्षकों को सम्मानित
September 6, 2020 • BABLI JHA • social

हरिद्वार। उत्तरांचल पंजाबी महासभा के पदाधिकारियों द्वारा डीपीएस के शिक्षकों को स्मृति पत्र व बुके देकर सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में स्कूल के प्रधानाचार्य अनुपम जग्गा, परविन्दर सिंह, गिरीश चंद्रा, नरेंद्र बग्गा शामिल रहे। जिला अध्यक्ष प्रमोद पांधी ने कहा कि शिक्षा जीवन निर्माण की कला है। जिसे एक शिक्षक अपने छात्रों को सिखाता है। उन्होंने कहा कि शिक्षक सदैव सम्मान के पात्र रहे हैं। शिक्षक के बिना शिक्षा की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। प्रदेश महामंत्री सुनील अरोड़ा ने कहा कि आज के आधुनिक व भौतिक युग में शिक्षक व शिक्षा की प्रासंगिकता बराबर बनी हुई है। शिक्षक अपने छात्र को ज्ञान देने के साथ उसका चरित्र निर्माण भी करते हैं। आप जीवन के किसी भी स्तर पर हों पर शिक्षक या गुरू की प्रेरणा से ही सफलता प्राप्त होती है। सुनील अरोड़ा ने कहा कि वर्तमान में शिक्षा का स्वरूप बदला है। लेकिन गुरू आज भी वही है। आज भी ज्ञान प्राप्त करने का माध्यम गुरू या शिक्षक ही है। गुरू के बिना ज्ञान प्राप्त नहीं हो सकता है। प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेश कोचर व महामंत्री राम अरोड़ा ने कहा कि शिक्षक ही देश की रीढ़ होता है। जो सच्चे और ईमानदार नागरिक तैयार करते हैं। हमें शिक्षकों का हमेशा सम्मान करना चाहिए। जिसका पालन आज भी किया जा रहा है। शिक्षक ही छात्र को ज्ञान की प्रेरणा देकर उसके अंतःकरण का विवेक के प्रकाश से आलोकित करते हैं। इस अवसर पर राज ओबराय, जय अरोड़ा आदि भी मौजूद रहे।